राज्यपाल ने असामाजिक तत्वों से सावधान रहने का आह्वान किया       हिमाचल: पहाड़ों ने ओढ़ी बर्फ की सफेद चादर, अटल टनल में उमड़े सैलानी       कलयुगी बेटे ने बाप को उतारा मौत के घाट       इंदिरा गांधी की पुण्यतिथि पर कांग्रेस का सत्याग्रह एवं उपवास आंदोलन, कृषि सुधार कानून का किया विरोध       सरदार वल्लभभाई पटेल की 145 जयन्ती पर रिज मैदान पर मनाया गया राज्यस्तरीय समारोह , मुख्यमंत्री ने राष्ट्रीय एकता की दिलाई शपथ       आज का पंचांग 31 अक्टूबर : राहुकाल के साथ भद्रा भी, जानें आज का शुभ मुहूर्त       राशिफ़ल: 31अक्टूबर 2020, देखिए अपना आज का राशिफ़ल       16406 लोगों ने कौशल रजिस्टर पोर्टल पर कराया पंजीकरण, इतनो को मिला रोजगार       राज्यपाल व मुख्यमंत्री ने महर्षि वाल्मीकि जयंती पर लोगों को दी बधाई       हवाई अड्डों के विस्तार से हिमाचल में पर्यटन क्षेत्र को मिलेगा नया आयामः मुख्यमंत्री      

धार्मिक स्थान

सावन के महीने में इन अचूक उपायों से भोलेनाथ शीघ्र होंगे प्रसन्न, देंगे मनचाहा वरदान

July 17, 2020 09:50 AM

सावन का महीना शुरू हो गया है। सावन भोले बाबा का प्रिय महीना होता है। इसमे की गई बाबा की पूजा से वे शीघ्र अपने भक्तों के मनोरथ पूर्ण करते हैं और सभी परेशानियों को हर लेते हैं। सावन के महीने में भक्तिभाव से शिव आराधना करने से भोलेनाथ जल्दी प्रसन्न होकर अपने भक्तों के सभी कष्टों को हर लेते हैं। शिवपुराण की रूद्र संहिता में विभिन्न प्रकार के अन्नों(धान्यों) से शिवपूजा का फल अलग-अलग बताया गया है।

चावल अर्पित

शिवपुराण के अनुसार भगवान शिव पर अखंड चावल चढ़ाने से उपासक को लक्ष्मी की प्राप्ति होती है। शिवजी के ऊपर भक्तिभाव से एक वस्त्र चढ़ाकर उसके ऊपर चावल रखकर समर्पित करना और भी उत्तम माना गया है।

तिल से पूजा

शिवजी पर तिल अर्पित करने से मनुष्य के सभी पाप नष्ट होते है, एवं शनिजन्य दोषों से मुक्ति के लिए भगवान शिव पर काले तिल अर्पित करने चाहिए।

मूंग द्वारा

यदि मूंग से पूजा की जाए तो भगवान शिव मनुष्य को सुख-समृद्धि प्रदान करते हैं।

कंगनी

कंगनी द्वारा सर्वाध्यक्ष परमात्मा शिव का पूजन करने से उपासक के धर्म, अर्थ और काम-भोग की वृद्धि होती है तथा वह पूजा समस्त सुखों को देने वाली होती है।

इन उपायों से प्रसन्न होते हैं भोले बाबा 1. सावन में सोमवार को पानी में दूध व काले तिल डालकर शिवलिंग का अभिषेक करें। अभिषेक के लिए तांबे के बर्तन को छोड़कर किसी अन्य धातु के बर्तन का उपयोग करें। अभिषेक करते समय ऊं जूं स: मंत्र का जाप करते रहें, बीमारी से छुटकारा मिलेगा।

2. सावन में प्रतिदिन 21 बिल्वपत्रों पर चंदन से ऊं नम: शिवाय लिखकर शिवलिंग पर चढ़ाएं, इससे आपकी सभी मनोकामनाएं भोलेनाथ पूर्ण करेंगे।

3. यदि आपके विवाह में अड़चन आ रही है तो सावन में रोज शिवलिंग पर केसर मिला हुआ दूध चढ़ाएं, इससे जल्दी ही आपके विवाह के योग बन सकते हैं।

4. सावन में रोज नंदी (बैल) को हरा चारा खिलाएं, इससे कष्टों का निवारण होगा, जीवन में सुख-समृद्धि आएगी और मन प्रसन्न रहेगा।

5. श्रावण में गरीबों को भोजन कराएं, इससे आपके घर में कभी अन्न की कमी नहीं होगी तथा पितरों की आत्मा को शांति मिलेगी।

6. सावन के महीने में रोज सुबह जल्दी उठकर स्नान करके  समीप स्थित किसी शिव मंदिर में जाएं और भगवान शिव का जल से अभिषेक करें और उन्हें काले तिल अर्पण करें। इसके बाद मंदिर में कुछ देर बैठकर मन ही मन में ऊं नम: शिवाय मंत्र का जाप करें, इससे मन को शांति मिलेगी और रोग-शोक दूर होंगे इन सरल उपायों से भोले प्रसन्न होते हैं और अपने भक्तों के दुख क्लेश दूर करते हैं। 

Have something to say? Post your comment

धार्मिक स्थान में और

जानिए नवरात्रि में कलश स्थापना का क्या है शुभ मुहूर्त? इन बातों का रखें ध्यान

पर्स में जरूर रखनी चाहिए ये 5 चीजें, कभी नहीं रहेगी जेब खाली

अयोध्या में शुरू हुआ राम मंदिर निर्माण

जन्माष्टमी के दिन घर लायें ये चीजें कभी नही होगी धन की कमी

पृथ्वी पर सबसे बड़ा पाप विश्वासघात करना है, पढ़िए स्कंद पुराण में वर्णित ये रोचक कथा

जानें श्रावण मास की कैसे हुई शुरुआत, क्यों भोले नाथ का नाम पड़ा नीलकंठ?

सुखी जीवन चाहते हैं तो हर परिस्थिति में धैर्य बनाए रखें, विचारों की और शरीर की पवित्रता का ध्यान रखें: गरुड़ पुराण

चाणक्य नीति: धर्म की जन्मभूमि कहलाती है "दया"

निर्जला एकादशी व्रत आज, जानें उपवास, पूजा विधि और मुहूर्त के बारे में

जब प्रभु श्री राम ने दिया अपने ही भाई को मृत्यु का दंड, पढ़े विस्तार से