पंचायती राज संस्थाओं के प्रथम चरण का मतदान शांतिपूर्ण संपन्न, इस पंचायत में हुआ सर्वाधिक 94 फीसदी मतदान       पंचायत चुनाव के प्रथम चरण में 1228 पंचायतों में मतदान शुरू, युवा मतदाता भी बढ़ चढ़ कर करे रहे हैं मतदान       शिमला में समाने आया तीन तलाक का मामला,पति ने तीन तलाक देकर महिला को निकाला घर के बाहर       मुख्य सचिव ने स्वर्ण जयंती समारोह संबंधी समीक्षा बैठक की अध्यक्षता की       हिमाचल में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने की कोविड टीकाकरण की शुरुआत, डॉ जनक राज को लगा पहला टिका       आदित्य नेगी ने कुफरी में पार्किंग स्थलों एवं भवन का किया निरीक्षण, दिए आवश्यक दिशानिर्देश       17 जनवरी को प्रथम चरण के चुनाव में 138 ग्राम पंचायतों के लिए मतदान, मजबूत लोकतंत्र के लिए करें मतदान: उपायुक्त       कुफरी में स्थापित डॉप्लर राडार का हर्षवर्धन ने किया लोकार्पण, सौ किलोमीटर तक के सभी दिशाओं के मौसम की देगा जानकारी       राज्यपाल ने राम मंदिर के लिए 1.83 लाख रुपये का अंशदान किया       एकल खिड़की अनुश्रवण एवं स्वीकृति प्राधिकरण ने 509.86 करोड़ रुपये की 13 परियोजना प्रस्तावों को मंजूरी दी      

हिमाचल | शिमला

किसान आंदोलन के समर्थन में शिमला में विभिन्न संगठनों का धरना प्रदर्शन

December 03, 2020 10:28 PM

शिमला: सीटू, हिमाचल किसान सभा, जनवादी महिला समिति, डीवाईएफआई, एसएफआई, दलित शोषण मुक्ति मंच ने अपनी मांगों व तीन किसान विरोधी कानूनों को लेकर संघर्षरत किसानों के आंदोलन का पुरजोर समर्थन किया है। इन संगठनों ने केंद्र व हरियाणा सरकार द्वारा किये जा रहे किसानों के बर्बर दमन की कड़ी निंदा की है।

किसानों के आंदोलन के समर्थन में प्रदेश भर के मजदूरों, किसानों, महिलाओं, युवाओं, छात्रों व सामाजिक तथा आर्थिक रूप से पिछड़े तबकों द्वारा राज्यभर में प्रदर्शन करके किसानों के साथ एकजुटता प्रकट की गई। इस दौरान जिला व ब्लॉक मुख्यालयों में जबरदस्त प्रदर्शन किए गए।

किसान सभा के प्रदेशाध्यक्ष डॉ कुलदीप तंवर ने कहा कि मोदी व भाजपा सरकारें किसानों को कुचलने पर आमादा हैं जोकि बेहद निंदनीय है। उन्होंने इन सरकारों को तानाशाह करार दिया है। उन्होंने कहा है कि किसान आंदोलन को दबाने से स्पष्टतः ज़ाहिर हो चुका है कि ये दोनों भाजपा सरकारें पूंजीपतियों व बड़े घरानों के साथ हैं व उनकी मुनाफाखोरी को सुनिश्चित करने के लिए किसानों की आवाज़ को दबाना चाहती हैं जिसे देश का मजदूर-किसान कतई मंज़ूर नही करेगा।

उन्होंने कहा है कि केंद्र सरकार किसान विरोधी नीतियां लाकर किसानों को कुचलना चाहती है। उन्होंने देश के किसानों को ऐतिहासिक आंदोलन के लिए बधाई दी है जिसमें करोड़ों किसान शामिल हो चुके हैं। लाखों किसान ट्रेक्टरों के साथ आंदोलन के मैदान में हैं। सरकार की लाठी, गोली, आंसू गैस, सड़कों पर खड्डे खोदना, बैरिकेड व पानी की बौछारें भी किसानों के होंसलों को पस्त नहीं कर पा रही हैं।

उन्होंने किसानों के साथ मजदूरों की एकजुटता का आह्वान किया है। उन्होंने कहा है कि मोदी सरकार द्वारा लाए गए तीनों नए कृषि कानून पूर्णतः किसान विरोधी हैं। इसके कारण किसानों की फसलों को कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग के जरिए विदेशी और देशी कंपनियों और बड़ी पूंजीपतियों के हवाले करने की साज़िश रची जा रही है। जिसे बर्दास्त नही किया जाएगा।

 

Have something to say? Post your comment

हिमाचल में और

पंचायती राज संस्थाओं के प्रथम चरण का मतदान शांतिपूर्ण संपन्न, इस पंचायत में हुआ सर्वाधिक 94 फीसदी मतदान

पंचायत चुनाव के प्रथम चरण में 1228 पंचायतों में मतदान शुरू, युवा मतदाता भी बढ़ चढ़ कर करे रहे हैं मतदान

शिमला में समाने आया तीन तलाक का मामला,पति ने तीन तलाक देकर महिला को निकाला घर के बाहर

मुख्य सचिव ने स्वर्ण जयंती समारोह संबंधी समीक्षा बैठक की अध्यक्षता की

हिमाचल में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने की कोविड टीकाकरण की शुरुआत, डॉ जनक राज को लगा पहला टिका

आदित्य नेगी ने कुफरी में पार्किंग स्थलों एवं भवन का किया निरीक्षण, दिए आवश्यक दिशानिर्देश

17 जनवरी को प्रथम चरण के चुनाव में 138 ग्राम पंचायतों के लिए मतदान, मजबूत लोकतंत्र के लिए करें मतदान: उपायुक्त

राज्यपाल ने राम मंदिर के लिए 1.83 लाख रुपये का अंशदान किया

एकल खिड़की अनुश्रवण एवं स्वीकृति प्राधिकरण ने 509.86 करोड़ रुपये की 13 परियोजना प्रस्तावों को मंजूरी दी

हिमाचल के युवा गायक अखिल का गाना ऐश मचा रहा धमाल