Coronavirus (COVID-19) : कोरोना से निपटने के लिए केंद्र और राज्य सरकार के प्रयास सराहनीय: वीरभद्र       लोगों से सद्व्यवहार करे पुलिस वाले, मुर्गा बनाना व गालीगलौच है शतप्रतिशत बदतमीजी, पुलिस वालों को डीजीपी ने दी नसीहत, पढ़े विस्तार से       कोरोना वायरस : मकानमालिकों को एक महीने तक किराया नहीं लेने के केंद्र सरकार के आदेश, पढ़ें पूरी खबर       शिमला में आज ये रहेंगे फल- सब्जियों के दाम, तय दामों से अधिक बसूलने वालों के खिलाफ होगी कार्यवाही       आज का पंचांग: 30 मार्च 2020 (सोमवार); जानिए आज का शुभ मुहूर्त और राहुकाल का समय       आज का राशिफ़ल: 30 मार्च 2020; जानिए कैसा रहेगा आपका दिन       हिमाचल के लोग कर्फ्यू/लॉक डाउन का करे पालन, पुलिस को शख्ती के लिए न करे मजबूर - डीजीपी मरडी       लॉकडाउन को ठीक से ना लागू करवाने पर इन बड़े 4 अधिकारियों पर गिरी गाज, सरकार ने किए सस्पेंड, पढ़ें विस्तार से       टांडा अस्पताल में ठीक हुए कोरोना पॉजिटिव को मिली अस्पताल से छुट्टी, पढ़े विस्तार से       शिमला ग्रामीण के विधायक विक्रमादित्य सिंह ने जरुरतमंदों को बांटा राशन      

मनोरंजन

इस कंटेस्टेंट ने बताया टॉयलेट रोकने का आसान तरीका, अमिताभ बच्चन भी हुए हैरान

October 03, 2019 07:44 AM

2 अक्टूबर को प्रसारित हुए केबीसी के खास एपिसोड की शुरुआत अमिताभ बच्चन ने 'गांधी को अगर समझना है तो खुद गांधी बनकर देखो' कविता के साथ की. केबीसी के इस खास एपिसोड में भारत के कर्मवीरों ने एंट्री की। हिंदुस्तान के अलावा कई अलग देशों में भी स्वच्छता की मुहिम छेड़ चुके डॉ. बिंदेश्वर पाठक आज के एपिसोड में कर्मवीर के रूप में हॉटसीट पर बैठे। उनके अलावा एक और मेहमान के तौर पर आशीष सिंह भी केबीसी के स्टेज पर पहुंचे। आशीष ने महज 6 महीने में इंदौर का कई सौ मीट्रिक टन कूड़ा उठवाया और सबसे स्वच्छ शहर बना दिया था। आशीष ने डॉ. बिंदेश्वर पाठक के साथ मिलकर काफी सालों से काम किया है । खास बात ये है कि बिंदेश्वर पाठक ने सुलभ इंटरनेशनल मिशन की शुरुआत भी की है।

फ़ोटो सोर्स: सोनी टीवी

डॉ पाठक ने बताई प्रेशर से निजात पाने की अनोखी तकनीक

डॉ पाठक ने इसके अलावा एक बेहद दिलचस्प तरीके के सहारे ये भी बताया कि अगर इमरजेंसी स्थिति आ गई हो और आपको लगी हो और आसपास कोई भी पब्लिक टॉयलेट मौजूद ना हो तो इस एक तकनीक के सहारे आप टॉयलेट को रोक सकते हैं. उन्होंने कहा कि अपने बाएं हाथ में सबसे छोटी उंगली की तरफ से अपने हाथों को एक्यूपंचर के तरीके से दबाने की कोशिश करें और एंटी क्लॉक वाइस दिशा में चलते हुए एक स्कवॉयर को पूरा करते हुए पूरी हथेली को कवर कर लें। इससे प्रेशर में काफी फर्क पड़ेगा।

फ़ोटो सोर्स: सोनी टीवी
गौरतलब है कि अमिताभ ने शो के दौरान इस तकनीक की प्रैक्टिस की. उन्होंने इस तकनीक को दर्शकों के साथ भी साझा किया. इससे पहले उत्तर प्रदेश में जन्मीं अमला रुइया कर्मवीर के तौर पर पहुंची थीं. वे राजस्थान के 518 से ज्यादा गांवों की किस्मत बदल चुकी हैं. अमला को 1999, 2000 और 2003 के सूखे और अकाल ने झंकझोर कर रख दिया था जिसके बाद उन्होंने 'आकार चैरिटेबल ट्रस्ट' की स्थापना की. अमला ने वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम से ढेरों चेक डैम बनाए जिन्होंने 2 लाख से ज्यादा लोगों की पानी की समस्या हल कर दी. अमला एक अखबार में खबर पढ़ने के बाद राजस्थान पहुंची थीं।

Have something to say? Post your comment

मनोरंजन में और

जयाप्रदा के खिलाफ जारी हुआ गैर जमानती वारंट, आचार संहिता उल्लंघन का मामला

अब तीन दिन पहले रिलीज होगी अक्षय कुमार की 'सूर्यवंशी', मुंबई में दिन रात चलेंगे शो

हमशक्ल दिव्या भारती की मौत के बाद श्रीदेवी को मिली थी फिल्म, सेट पर होती थीं अजीब हरकतें

करण जौहर की फिल्म के लेखक ने हिंदुओं को बताया आतंकवादी, निर्देशक ने पूछा- 'पिता इसकी इजाजत देते?'

फाइटर पायलट के लुक में नजर आईं कंगना रनौत, फोटो हुई वायरल

सिद्धार्थ शुक्‍ला के साथ रिश्‍ते की बात कहने वाली शिल्‍पा शिंदे पर भड़के फैंस, कहा 'ट्रॉफी वापस करो'

Filmfare Awards 2020: 'केसरी' से किया भावुक फिर अक्षय ने घाघरा पहनकर लगाई स्टेज पर आग

फ‍िल्‍मफेयर अवॉर्ड्स में बैकस्‍टेज से चोरी हुई विक्‍की कौशल और वरुण धवन की पैंट, फिर हुआ ये

आज का राशिफ़ल: 03 नवम्बर 2019; जानिए कैसा रहेगा आपका दिन

इस शो में ड्रामा, डांस और ग्लैमर का जमकर लगा तड़का