शिक्षा विभाग की अधिसूचना के बाद भी शिमला के निजी स्कूल कर रहे मनमानी, ऑनलाइन परीक्षाएं करवाने में कर रहे आनाकानी, अभिभावकों ने सौंपा ज्ञापन..       हिमाचल : मुख्यमंत्री ने जेसीसी बैठक में नया पे-कमीशन देने का किया ऐलान, कॉन्ट्रैक्ट कर्मी भी 2 साल बाद होंगे रेगुलर, पढ़े पूरी खबर..       हिमाचल में 'एक बार कांग्रेस एक बार भाजपा' की प्रथा तोड़ेंगी जयराम सरकार, 2022 में फिर बनेगी भाजपा की सरकार - सौदान सिंह       देश में तेजी से बढ़ रहा टीकाकरण का आंकड़ा, बूस्टर डोज को लेकर सरकार पर दबाव, पढ़े पूरी खबर..       ओमिक्रॉन वैरिएंट : बढ़ते खतरे के बीच अधिकारियों के साथ पीएम मोदी की बैठक, कोरोना टीकाकरण की करेंगे समीक्षा       शनिवार का राशिफ़ल : 27 नवम्बर 2021; जाने कैसा रहेगा आपका दिन..       शनिवार का पंचांग: 27 नवम्बर 2021; जाने आज का शुभमुहूर्त का समय       हिमदर्शन सामान्य ज्ञान - किस जानवर का शरीर बुलेट प्रूफ होता है..?       हिमाचल : शिमला जिला के रामपुर में एचआरटीसी बस ने कुचला 8 साल का स्कूली बच्चा, अभिभावक धरने पर बैठे, एनएच पर लगा जाम       शिमला में प्राइवेट केबल टीवी चैनल के दफ्तरों पर ई.डी. की Raid, पढ़े पूरी खबर..      

हिमाचल | शिमला

नगर निगम लोगों को मूलभूत सुविधाएं देने में फैल, करोडों के बजट के बावजूद स्मार्ट सिटी के नाम पर लगाये जा रहे डंगे - टिकेंद्र पंवर

November 22, 2021 03:00 PM
Om Prakash Thakur

स्वच्छता रैंकिंग में शिमला के पिछड़ने निगम की कार्यप्रणाली को ठहराया जिम्मेदार, नगर निगम लोगों को मूलभूत सुविधाएं देने में भी फैल, करोडों के बजट के बावजूद स्मार्ट सिटी के तहत शहर का कायाकल्प के नाम पर लगाये जा रहे डंगे, पढ़े पूरी खबर..

शिमला : स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 में हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला की रैंकिंग 65 वें स्थान से लुढ़ककर 102 वें पायदान पर पहुंच गई है। नगर निगम शिमला के पूर्व उपमहापौर टिकेंद्र पंवर ने इस रैंकिंग पर सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने इस रैंकिंग को ही फ्रॉड बताया है। वन्ही उन्होंने भाजपा शाषित नगर निगम को इसके लिए जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने सफाई व्यवस्था के अलावा अन्य क्षेत्रों में भी पिछड़ने की बात कही है।उन्होंने आरोप लगाए हैं कि नगर निगम शहर के लोगों को बिजली कूड़े, पानी जैसी मूलभूत सुविधाएं देने में भी असफल रही है।

नगर निगम के पूर्व उपमहापौर टिकेंद्र पंवर ने इस रैंकिंग की प्रक्रिया को ही फ्रॉड करार दिया है। हर शहर की भूगोलिक प्रस्थितिया भिन्न होती है। वन्ही उन्होंने कहा कि शहर की रैंकिंग अवश्य गिरी है नगर निगम कार्य को सही तरीके से नही कर पा रहा। निगम घरों से उठा रहे कूड़े को भी सही तरीके से डंप नही कर रहा है।

लोगों को जिस तरह की सुविधाएं मिलनी चाहिए थी वैसी नही मिल पा रही है। नगर निगम टाउन हॉल को लेकर ही फैसला नही कर पा रहा है यह समझ नही आ रहा है कि निगम को मंत्री चला रहे है या मेयर। उन्होंने कहा कि लोगों को निगम की कार्यप्रणाली में विश्वास नही रहा है।

टिकेंद्र ने कहा कि कड़ी मशक्त के बाद शिमला स्मार्ट सिटी में आया लेकिन निगम शहर को स्मार्ट बनाने में असफल रहा। स्मार्ट सिटी में शहर का कायाकल्प होना था लेकिन निगम डंगे लगाने के अलावा कुछ नही कर पा रहा। उन्होंने कहा कि निगम, सरकार एक दल होने के स्मार्ट सिटी पर काम नही हो पाया जो कि शर्मनाक है।

Have something to say? Post your comment

हिमाचल में और

शिक्षा विभाग की अधिसूचना के बाद भी शिमला के निजी स्कूल कर रहे मनमानी, ऑनलाइन परीक्षाएं करवाने में कर रहे आनाकानी, अभिभावकों ने सौंपा ज्ञापन..

हिमाचल : मुख्यमंत्री ने जेसीसी बैठक में नया पे-कमीशन देने का किया ऐलान, कॉन्ट्रैक्ट कर्मी भी 2 साल बाद होंगे रेगुलर, पढ़े पूरी खबर..

हिमाचल में 'एक बार कांग्रेस एक बार भाजपा' की प्रथा तोड़ेंगी जयराम सरकार, 2022 में फिर बनेगी भाजपा की सरकार - सौदान सिंह

हिमाचल : शिमला जिला के रामपुर में एचआरटीसी बस ने कुचला 8 साल का स्कूली बच्चा, अभिभावक धरने पर बैठे, एनएच पर लगा जाम

शिमला में प्राइवेट केबल टीवी चैनल के दफ्तरों पर ई.डी. की Raid, पढ़े पूरी खबर..

जयराम ठाकुर के विरोधियों की बोलती बंद, हिमाचल में जयराम के नेतृत्व में ही आगे बढ़ेगी पार्टी और सरकार, होंगे आगामी चुनाव में CM का चेहरा, पढ़े पूरी खबर..

मंडी : डीएफओ हेडक्वार्टर मंडी ने बीबीएमबी झील में कूदकर दी जान

हाईकोर्ट का फैसला : कानूनी प्रक्रिया का दुरुपयोग करने पर प्रार्थियों की याचिका खारिज की, 1.20 लाख रुपए की कॉस्ट भी लगाई

वन निगम के अधिकारियों व कर्मचारियों को प्रथम जुलाई, 2021 से छह प्रतिशत महंगाई भत्ता देने का निर्णय

शिमला : महंगाई के खिलाफ़ सीपीएम ने उपायुक्त कार्यालय से नाज़ तक निकाला जलूस, भाजपा सरकार को बताया आमजन विरोधी, पढ़े पूरी खबर..