Coronavirus (COVID-19) : कोरोना से निपटने के लिए केंद्र और राज्य सरकार के प्रयास सराहनीय: वीरभद्र       लोगों से सद्व्यवहार करे पुलिस वाले, मुर्गा बनाना व गालीगलौच है शतप्रतिशत बदतमीजी, पुलिस वालों को डीजीपी ने दी नसीहत, पढ़े विस्तार से       कोरोना वायरस : मकानमालिकों को एक महीने तक किराया नहीं लेने के केंद्र सरकार के आदेश, पढ़ें पूरी खबर       शिमला में आज ये रहेंगे फल- सब्जियों के दाम, तय दामों से अधिक बसूलने वालों के खिलाफ होगी कार्यवाही       आज का पंचांग: 30 मार्च 2020 (सोमवार); जानिए आज का शुभ मुहूर्त और राहुकाल का समय       आज का राशिफ़ल: 30 मार्च 2020; जानिए कैसा रहेगा आपका दिन       हिमाचल के लोग कर्फ्यू/लॉक डाउन का करे पालन, पुलिस को शख्ती के लिए न करे मजबूर - डीजीपी मरडी       लॉकडाउन को ठीक से ना लागू करवाने पर इन बड़े 4 अधिकारियों पर गिरी गाज, सरकार ने किए सस्पेंड, पढ़ें विस्तार से       टांडा अस्पताल में ठीक हुए कोरोना पॉजिटिव को मिली अस्पताल से छुट्टी, पढ़े विस्तार से       शिमला ग्रामीण के विधायक विक्रमादित्य सिंह ने जरुरतमंदों को बांटा राशन      

देश/विदेश

धनतेरस-2019: इस धनतेरस 50% घट सकती है सोने की खरीदारी, जानिए वजह..

October 09, 2019 12:17 PM
प्रतीकात्मक तस्वीर

धनतेरस-2019: इस धनतेरस 50% घट सकती है सोने की खरीदारी, जानिए वजह

वैसे तो त्‍योहारी सीजन में सोने-चांदी की खूब खरीदारी होती है लेकिन इस बार ऐसी उम्‍मीद नहीं है. इंडिया बुलियन एंड ज्वेलर्स एसोसिएशन (आईबीजेए) के नेशनल सेक्रेटरी सुरेंद्र मेहता के मुताबिक इस साल धनतेरस पर मांग कमजोर होने के कारण सोने की 50 फीसदी तक खरीदारी घट सकती है. बता दें कि इस मौके पर हर साल देशभर में करीब 40 टन सोने की खरीदारी होती है।

न्‍यूज एजेंसी आईएएनएस से मेहता ने बताया कि ऊंचे भाव पर मांग घटने और आयात शुल्क में वृद्धि होने के कारण बीते महीने सितंबर में सोने का आयात घटकर 26 टन रह गया, जबकि पिछले साल इसी महीने में भारत ने 81.71 टन सोने का आयात किया था. इस तरह पिछले साल के मुकाबले इस साल सितंबर में सोने का आयात 68.18 फीसदी घट गया. सोने का आयात घटने की वजह पूछने पर मेहता ने बताया कि सरकार ने आयात शुल्क में वृद्धि कर दी, जिससे सोने का आयात महंगा हो गया।

 

बता दें कि इस साल जुलाई में आम बजट में महंगी धातुओं पर आयात शुल्क 10 फीसदी से बढ़ाकर 12.5 फीसदी कर दिया गया है.

मेहता ने आगे कहा, "सोने में तीन तरह की मांग रहती है, पहली, शादी के सीजन की मांग. दूसरी, त्योहारी मांग और तीसरी नियमित मांग. बाजार में लिक्‍विडिटी के अभाव में नियमित मांग की हालत पहले से ही खराब है, वहीं भाव ऊंचा होने से लोग निवेश से भी घबराते हैं. इसके अलावा त्योहारी मांग भी कमजोर रहने वाली है." हालांकि केडिया एडवायजरी के डायरेक्टर अजय केडिया को उम्‍मीद है कि त्‍योहारी डिमांड में सुधार जरूर होगा. लेकिन पिछले वर्षो की तरह इस साल सोने-चांदी की त्योहारी मांग नहीं रहेगी, क्योंकि भाव अभी भी काफी ऊंचा है।

बता दें कि मुंबई में बीते शुक्रवार को 22 कैरट सोने का भाव 39, 190 रुपये और 24 कैरट का 39, 340 रुपये प्रति 10 ग्राम था. बीते दिनों सोने का भाव भारतीय सर्राफा बाजार में 40, 000 रुपये प्रति 10 ग्राम से ऊपर चला गया था. वहीं, अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोमवार को सोने का भाव 1, 500 डॉलर प्रति औंस से ऊपर चल रहा है, जबकि पिछले साल पांच अक्टूबर को सोने का भाव 1, 242.20 डॉलर प्रति औंस था. इस प्रकार अंतरराष्‍ट्रीय बाजार में पिछले साल के मुकाबले सोने का भाव इस समय 250 डॉलर प्रति औंस से भी ज्यादा है।

 

Have something to say? Post your comment

देश/विदेश में और

कोरोना वायरस : मकानमालिकों को एक महीने तक किराया नहीं लेने के केंद्र सरकार के आदेश, पढ़ें पूरी खबर

लॉकडाउन को ठीक से ना लागू करवाने पर इन बड़े 4 अधिकारियों पर गिरी गाज, सरकार ने किए सस्पेंड, पढ़ें विस्तार से

बिल्कुल मुफ्त मिलेगा इस राज्य के इन सारे परिवारों को एक माह का राशन, खाद्य एवं आपूर्ति ने मंत्री ने लिया अहम फैसला, पढ़े विस्तार से..

मोदी सरकार की अच्छी पहल, देश के गरीब मजदूरों के लिए किया बड़े पैकेज का एलान, पढ़े विस्तार से

अमेरिका ने अपने हर नागरिक के लिए किया बड़े आर्थिक पैकेज का एलान, हर अमरीकी नागरिक के बैंक खाते में आएंगे इतने यूएस डॉलर, पढ़ें विस्तार से

देश का सबसे बड़ा राज्य पूर्णतया 3 दिन के लिए लॉकडाउन, CM ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पूर्ण लॉक डाउन की घोषणा, पढ़ें विस्तार से -

वित्त मंत्रालय का बड़ा फैसला : नहीं जा पा रहे हो काम पर, तो भी माना जाएगा "ऑन ड्यूटी", मिलेगा पूरा वेतन, जाने विस्तार से -

सुकमा में नक्सलियों के साथ मुठभेड़ के बाद लापता 17 जवान शहीद

कोरोना वायरस: राज्यस्थान के बाद अब इस राज्य के दिए 31 मार्च तक लॉकडाउन के आदेश, जानिए क्या है लॉकडाउन का अर्थ ?

विश्व के सबसे शक्तिशाली देश के राष्ट्रपति के दफ्तर तक पहुंचा कोरोना, एक ऑफिसर पॉजिटिव, मचा हड़कंप