10 अगस्त से शुरू होगा हिमाचल प्रदेश विधानसभा का मानसून सत्र, सत्र में गुंजेंगे 367 सवाल       राज्य सरकार की रोक के बाद भी शिमला जीपीओ में आबंटित हो रहे खराब गुणवत्ता वाले तिरंगे, पढ़े पूरी खबर..       संजौली कॉलेज मेरिट सूची 2022 : संजौली कॉलेज की प्रथम वर्ष की मेरिट लिस्ट जारी, किस श्रेणी की कितनी गई कट आफ लिस्ट, देखें       हिमाचल के कांगड़ा में मिला पाकिस्तानी ग्रेनेड, स्वतंत्रता दिवस से पूर्व ग्रेनेड मिलने से लोगों में हड़कंप, पढ़े पूरी खबर..       शिमला में किसान बागवानों ने निकाली आक्रोश रैली, हरीश चौहान बोले- बागवानों को हल्के में लेने की गलती कर रही प्रदेश सरकार..       महंगाई व बेरोजगारी के खिलाफ कांग्रेस का हल्ला बोल, शिमला में राजभवन का किया घेराव, पढ़ें पूरी खबर..       राज्यपाल ने की प्रदेशवासियों से हर घर तिरंगा’ अभियान में शामिल होने की अपील       साइकिल व सरकारी बस में ज़ोरदार टक्कर, एक घायल       बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी के खिलाफ कांग्रेस का 5 अगस्त को राष्ट्रव्यापी प्रदर्शन, शिमला में करेंगे राजभवन का घेराव..       हिमाचल निर्माता प्रथम मुख्यमंत्री डॉ यसवंत सिंह परमार जयंती पर शिमला के पीटरहोफ में मनाया गया राज्य स्तरीय कार्यक्रम, अर्पित किए गए श्रद्धा सुमन      

धर्म/संस्कृति

सावन 2022 : सावन के पहले सोमवार को शिवलिंग पर चढ़ाएं ये एक चीज, बदल जाएगी तकदीर..

July 18, 2022 09:54 AM

सावन : 2022; सावन के सोमवार भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए शिवलिंग पर तरह-तरह की चीजें चढ़ाई जाती हैं। इस दिन शिवलिंग पर गंगाजल, बेलपत्र, धतूरा, भांग, कपूर, दूध, चावल, चंदन और भस्म जैसी चीजें अर्पित की जाती हैं। लेकिन एक चीज ऐसी भी है जो भगवान शिव को अत्यंत प्रिय है। ज्योतिषियों का कहना है कि यह एक चीज शिवलिंग पर चढ़ाने से इंसान की सोई तकदीर जाग सकती है। आज 18 जुलाई को सावन का पहला सोमवार है। 

रूद्र और शिव पर्यायवाची शब्द हैं। रूद्र शिव का प्रचंड रूप है। भगवान शिव को रूद्राक्ष अर्पित करना बहुत ही शुभ माना जाता है। शास्त्रों में रूद्राक्ष को भगवान शंकर का महाप्रसाद बताया गया है। ऐसा कहते हैं कि भगवान शिव के आंसुओं से पैदा हुए रुद्राक्ष में दुर्भाग्य को सौभाग्य में बदलने की ताकत होती है। यह ना सिर्फ भगवान शिव को अर्पित किया जा सकता है बल्कि इसे धारण भी किया जा सकता है इसे धारण करने से जीवन की तमाम समस्याएं, रोग, शोक और भय से मुक्ति मिल सकती है। 

महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग के आज प्रातः कालीन शुभ दर्शन..

भगवान शिव को कब चढ़ाएं रूद्राक्ष ?

सावन के पहले सोमवार तय मुहूर्त में आप शिवलिंग को रूद्राक्ष अर्पित कर सकते हैं। सुबह 04 बजकर 13 मिनट से लेकर 04 बजकर 54 मिनट तक ब्रह्म मुहूर्त रहेगा। इसके बाद दोपहर 12 बजे से 12.55 तक अभिजीत मुहूर्त रहेगा। फिर दोपहर 02.45 से 03:40 तक विजय मुहूर्त रहने वाला है। इस बीच आप किसी भी समय शिवलिंग पर रूद्राक्ष चढ़ा सकते हैं।

शिवलिंग को रूद्राक्ष अर्पित करते समय यजुर्वेद के रुद्राष्टाध्यायी के मंत्रो का पाठ किया जाता है। इससे शीघ्र से शीघ्र मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं। साथ ही, इससे कुंडली में ग्रह दोष का प्रभाव भी कम होता है। रुद्राक्ष चढ़ाने के लिए शिवजी की उपस्थिति अत्यंत आवश्यक है। इसलिए भगवान शिव के स्थान पर जाकर ही इसे शिवलिंग पर चढ़ाएं।

Have something to say? Post your comment

धर्म/संस्कृति में और

शनि जयंती- 2022: शनि जयंती पर 30 साल बाद अद्भुत संयोग, आज सूर्यास्त से पहले जरूर करें ये 5 काम, पढ़े विस्तार से..

प्रसिद्ध शक्तिपीठ चिंतपूर्णी मंदिर में उमड़ा आस्था का सैलाब, माता रानी के दर्शनों के लिए श्रद्धालुओं की दिनभर लगी रही कतारें, पढ़े पूरी खबर..

मां बगलामुखी के जन्मोत्सव पर हजारों श्रद्धालु हुए नतमस्तक, मंदिर में उमड़ा श्रद्धा का सैलाब, पढ़े पूरी खबर..

बगलामुखी जयंती 2022: आज मां बगलामुखी जयंती पर पढ़ें माता की उत्पत्ति की रोचक कथा, जानें पूजा की विधि और महत्व..

सियासत: मनीष सिसोदिया बोले- भाजपा ने पार्टी में उन लोगों को शामिल किया जिन्हें हम निकालने वाले थे

दुर्गा अष्टमी के दिन नैना देवी मंदिर में उमड़ी भक्तों की भीड़ -

हनुमान जन्मोत्सव 2022 कब है, जानें तिथि, पूजा का शुभ मुहूर्त और महत्व

आज से चैत्र नवरात्रि शुरु, इस मुहूर्त में करें घटस्थापना, किस दिन कौन सा नवरात्र, पढ़े पूरी खबर..

ज्वाला देवी मंदिर, 51 शक्तिपीठों में से माँ का सबसे चमत्कारिक मंदिर, नौं ज्वालायें मानी जाती है माँ के नौं रूपों की प्रतीक, जाने विस्तार से..

महाशिवरात्रि की हार्दिक बधाई व शुभकामनाएं, महाशिवरात्रि पर आज बनने जा रहा है शुभ संयोग, जानें मुहूर्त और पूजा विधि..